Indian दोस्त बनाकर चोदा…

दोस्तों मैं आपके साथ एक अपने साथ हुई सेक्सी घटना शेयर करने जा रहा हूँ ….लोगों को ये भी लगता होगा की यहाँ पर अपडेट की हुई कहानियां सब मन की बनायीं हुई कहानियां हुआ करती हैं …लेकिन ये मेरी लाइफ की एक सच्ची कहानी है जो मैं आपको सुनाने जा रहा हूँ ….मेरा नाम सागर हैं ….मैं अपनी इंजीनियरिंग की पढाई करने के लिए गाजिआबाद शहर आया …बात २००६ की है ! तब तक मेरी लाइफ में कोई लड़की नहीं थी…और मैं चाहता भी नहीं था ….क्यूंकि अक्सर लड़कियां धोखा दे देती हैं ! किसी तरह से मैंने अपने ३ साल पुरे कर लिए ….फिर आखिरी साल में मैं हॉस्टल से बहार रूम लेकर दोस्तों के साथ थोड़ी मौज मस्ती के इरादे से रहने लगा ….हम ने जहाँ रूम लिया वही से थोड़ी दूर पर एक घर में एक सुन्दर सी लड़की रहा करती थी …वो भी अपनी ग्रेजुएशन कर रही थी …उससे बात तो होती नहीं थी तो उसके बारे में कुछ भी नहीं पता था ….दोनों के घर के पास में ही छोटा सा मार्किट था…..अगर वो कभी मार्किट के लिए निकलती तो हमारे रूम से दीखता था तो मैं भी किसी न किसी काम के बहाने से मार्किट को चला जाता था..उसे देख लेने भर के लिए……फिर एक दिन हिम्मत करके….उससे बात की….मैं उसे हाय कहाँ ….उसने भी स्माइल के साथ रिप्लाई कर दिया….मुझे अच्छा लगा की लड़की ने रिप्लाई तो ठीक से किया….फिर यूँही कभी कभी मिलते तो थोड़ी भोत बात होने लगी….एक दुसरे के बारे में जानने लगे…फिर हुआ ये की उसके घर के पड़ोस में उनके कोई रिलेटिव भी रहते थे और उनके यहाँ एक लड़का जिसको tution की जरुरत थी …इससे अच्छा मौका नही था उसके साथ टाइम बिताने का…मैंने कहाँ मैं tution पढ़ा दूंगा….तो उसने बात की और हाँ हो गयी…अब मैं उनके पडोश में आने जाने लगा….फिर हममे भोत गहरी दोस्ती हो गयी….अब मैं उनके घर भी आने जाने लगा था..उसकी मम्मी से भी भोत अच्छी बात हो गयी थी मेरी ….इस सबको १ साल हो गया था….फिर मुझे किसी काम से १ महीने के लिए बहार जाना पड़ा…तो अच्चानक से उसका फ़ोन आया …वो कहने लगी की उसकी तबियत ठीक नहीं है ….मैं अपना सारा काम छोड़ कर चला आया…वो बिलकुल ठीक थी …बस वो जानना चाहती थी मैं उसके लिए क्या कर सकता हूँ ….फिर हम फ़ोन पर रात रात भर बात करने लगे…धीरे धीरे वो मेरे मन की बात जानने की कोसिस करती की मैं उसके लिया क्या सोचता हूँ ….कई बार वो मुझसे काफी अन्तरंग बातें भी करती…. मैं भी उसको वैसे ही जवाब देता ..मुझे लगने लगा था की वो अब मुझे चाहने लगी है ….कुछ दिन बाद उसकी बातों में बोल्डनेस आने लगी…वो मुझे seduce करने लगी …अब तो मेरी भी limit ख़तम हो गयी थी …मैंने उससे कहा की मुझे तुमसे अकेले में मिलना है ….बताओ की कहाँ मिले….तो उसने कहा की evening में कभी भी आ जाओं वो अकेली होती है….तो मैं एक दिन उसके यहाँ evening में गया…वो घर पर अकेली थी ….और मैं भी पूरी तयारी के साथ गया…कंडोम्स का एक पूरा पैकेट ले कर….वो भी पूरी तयारी के साथ आई…वो ५ मं पहले ही नाहा कर आई थी तो उसके बाल अभी भी भीगे हुए थे और उसमे से एक मादक खुसबू आ रही थी .. मुझसे रहा नहीं गया….वो पूछने लगी की बताओ क्या काम था जो घर पर मिलना चाहते थे..मैंने कहा की मेरे इरादे नेक नहीं हैं बताओ अब तुम क्या करोगी ….तुम अकेली भी हो …तो उसने कहा की मैं क्या करुँगी ..मैं तो लड़की हूँ..घर पर अकेली भी हूँ….और तुम तो हट्टे कटते लड़के हो…तुम तो मुझ पर भोत भरी पड़ोगे….मैं भी उसके इशारे समझ रहा था…मैं थोडा उसके पास गया …उसने थोडा भी झिझक नही दिखाई…मैं और पास गया और उसको कमर से पकड़ कर अपनी तरफ खिंचा …वो भी मेरा साथ दे रही थी …मैंने उसके बालों की भीगी भीगी खुसबू में मदहोश हो रहा था…मैंने उसके गालों पर kiss किया…और फिर धीरे धीरे उसके माथे पर, ..कान के पास…और फिर गले पर kiss किया….अब मैं उसके कंधे पर kiss कर के उसको seduce कर रहा था…वो थोडा सा इशारे से मुड़ने लगी….फिर मैंने उसके कमर से अन्दर हाथ डालना सुरु किया….मैंने उसको पीछे मोड़ कर उसका टॉप पीछे से उठा दिया और उसकी कमर पर पागलों की तरह kiss करने लगा…मैंने टॉप के अन्दर से ही उसकी ब्रा पर हाथ लगाया तो वो थोड़ी से uncomfortable लगी लेकिन फिर थोड़ी ही देर में नार्मल हो गयी …अब मैंने उसके ब्रा से उसके boobs में हाथ लगाया…अब वो नार्मल थी …मैंने उसकी ब्रा खोल दी…अब उसके tight और गोल boobs एकदम मेरे सामने थे…मैंने उसकी टॉप को भी निकाल दिया…वो जीन्स के ऊपर से पूरी नंगी मेरे सामने थी ….मैं उसके पेट से boobs तक kiss करने लगा वो एकदम गरम हो चुकी थी लेकिन अभी टाइम सही नही था…अभी उसको और गरम करना था…मैंने अब उसकी जीन्स में बहार से अन्दर हाथ डाला ….अन्दर इतना गरम लग रहा था मुझे की मैं बता नही सकता …मैंने उसे गोद में उठाया और सोफे पर लिटा दिया….अब मैं उसकी जीन्स के बटन खोल रहा था….जीन्स के साथ पिंक कलर की panty पहनी हुई थी उसने …मैंने दोनों निकाल के जमीन पर फेंक दिए….मुझसे अब रुका नहीं जा रहा था…. जैसे ही उसकी पिंक चूत को मैंने देखा मैं उसको चूसने लगा….वो भी excite हो रही थी इस सब से.,….मैंने १० मिनट तक उसकी चूत को चूसा …अब वो बिलकुल गरम हो चुकी थी ,…मैंने उसकी चूत को अपने हाथ की उँगलियों से फैला कर देखा तो वो एक वर्जिन चूत थी…मैं उसकी चूत को पहली बार चोदने जा रहा था ….मैंने एकदम से अपना lund उसकी चूत में डालना ठीक नहीं समझा….तो मैंने पहले अपनी middle finger उसकी चूत में डाली तो वो रोने लगी…क्यूंकि पहले बार कोई चीज उसकी चूत में जा रही थी …मैंने उसके होठों पर kiss किया तो उसे अच्छा लगा…अब मैं अपनी middle finger के साथ एक ऊँगली और दाल कर अन्दर बहार करने लगा …मैं lund के लिए रास्ता बना रहा था….अब मैंने सही टाइम समझ कर उसे चोदने का सोचा ….जैसे ही मैंने अपना एक्ससितेद lund बहार निकाला वो उसे देख कर चोंक गयी…क्यूंकि एक ऊँगली जाने में उसे इतना दर्द हुआ था…तो वो मोटा सा lund देख कर दर गयी …मैंने उसे तसल्ली दी…और कहा की सब ठीक होगा…मैंने उसे बातों में लगाया और अपना lund उसकी चूत पर रख के धीरे धीरे अन्दर करने लगा..जैसे ही वो उसकी चूत के अन्दर जाने लगा वो फिर से चीखी..अभी तो lund अन्दर भी नहीं गया था…मैंने फिर से उसे बातों में लगाया ….फिर मैंने अपने lund को उसकी चूत पर रख कर झटके से अन्दर दाल दिया…पूरा lund अन्दर जा चूका था…और उसकी जोर की चीख भी निकल पड़ी थी..उसकी आँखों में अंशु थे…उसकी चूत से खून भी निकल रहा था…वो अब वर्जिन नहीं रही ….मैंने अब lund को बहार निकल कर एक कपडा लेकर. उसकी चूत के खून को और अपने lund पर लगे खून को साफ़ किया…अब वो पूरी तरह से ready थी मैंने फिर से एकबार lund को अन्दर डाला ..इस बार आराम से अन्दर चला गया उसकी चूत काफी टाइट थी…मैं जोर जोर से झटके मरने लगा. उसे भी मजे आ रहे थे…वो भी आवाजें निकल रही थी….पहली बार का सेक्स था तो दर्द तो होना ही था….लेकिन अब उसे इस दर्द में भी मजे आ रहे थे….मैं झटके पर झटके लगा रहा था…मैंने अब उसे उठाया और सोफे पर doggy स्टाइल में आने को कहा…अब मैं उसे पीछे से उसकी चूत में lund डाल कर चोद रहा था….फिर मैंने थोड़ी देर बार उसकी गांड में lund डालने की कोशिस की…गांड में तो lund जाने को ही नहीं तैयार था…मैंने थोड़ी देर तक उसकी गांड में ऊँगली डालकर उसकी गांड का छेद थोडा सा बड़ा किया….अब वो lund के जाने के लिए गांड तैयार थी…मैंने उनकी गांड में lund डालकर usko 15 मिनट तक चोदा …उसे भी गांड में चुदवा के मजा आया….अब मैं झड़ने वाला था….मैंने उसे इस बात का एहसास भी नहीं होने दिया…क्यूंकि वो चाहती थी मैं अपना पानी बहार निकालूं….मैंने उसे फिर से घुमाया और सोफे पर लिटा दिया…फिर से में उसकी चूत में lund डालकर चोदने लगा….मैं बिलकुल excite हो चूका था…मेरा पानी निकलने ही वाला था…मैंने उसे जोर जोर से झटके मरने सुरु कर दिया….और जैसे ही पानी निकलने वाला था….एक जोर का झटका मारकर सारा पानी उसकी चूत में दाल दिया….वो भी झड चुकी थी ….हमने ४५ मिनट तक सेक्स किया….अब मैंने अपना lund बहार निकाला…थोड़ी देर हम एक साथ लेते रहे …बात करते रहे…वो दरी हुई थी …की मैंने अपना पानी उसकी चूत में दाल दिया था…मैंने उसे भरोसा दिलाया की कुछ नही होगा…मैंने उसे कहा की मैं मेडिसिन ला दूंगा खा लेना..उससे ये सब नहीं होगा…फिर १५ मिनट के बाद मैं फिर से उसे चोदने के लिए तैयार था….इतनी मस्त लड़की को एक बार चोद कर मन कहाँ भरता है ….इस बार उसने कहा कंडोम लगा लो…तो मैंने कंडोम लगा लिया…इस बार मैंने कहा कुछ नया तरी करते हैं …तो बोली क्या….मैंने उसे मुह में अपना lund दिया….और कहा इसे चुसो…तो उसे अजीब लगा….लेकिन फिर वो मान गयी और चूसने लगी…थोड़ी ही देर में मेरा lund फिर से खड़ा हो गया….मैंने उसे गोद में उठाया और गोद में उठाये ही उसकी चूत में lund डाल दिया …और उसे ऊपर नीचे उछलने लगा….बड़ा मजा आ रहा था दोनों को ….मैंने उसे फिर १५ मिनट तक चोदा और फिर से मैं झड गया ….इस बार मैं जल्दी झड गया था….फिर मैं उसकी चूत को चाटने लगा….उसे भी झाड़ना था…तो मैंने उसके चूत में २ उँगलियाँ डालकर जोर जोर से अन्दर बहार करने लगा …फिर मैंने एक ऊँगली और डाल दी…अब उसे और मजा आ रहा था…मैंने उसके G-Point को धयान में रखकर उँगलियाँ अन्दर बहार कर रहा था…तो एकदम excite थी …वो झड़ने वाली थी ….मैंने हाथ चलाना तेज कर दिया…अचानक से उसकी चूत से पतला सा बहोत सारा सा पानी निकला कुछ छीटें उस पानी की मेरे मुह पर भी आ गयी अजीब सी smell आ रही थी ….लेकिन अच्छी भी लग रही थी ….अब वो झड चुकी थी …और एक दम से पस्त हो चुकी थी ….फिर मैंने उसके गाल और होंठों पर kiss किया और उसके साथ थोड़ी देर लेट गया …थोड़ी देर तक हमने बातें की…फिर दोनों उठे और कपडे पहने…!!! मैं फिर वहां से अपने रूम पर चला गया…!! उसके बाद हमने २-३ बार सेक्स किया …!!! फिर मैं वो शहर छोड़ कर बंगलोरे चला गया….!!! अब उसकी शादी होने वाली है ….!! लेकिन वो इस शादी से खुस नही है ….!!!! लेकिने मई उससे शादी नहीं कर सकता इसलिए….मैंने उसे कहा की तुम ये शादी कर लो…..हम मिलते रहेंगे!!!

loading...

Leave a Reply