माँ के साथ ब्लू फ़िल्म देखी

य़े बात उस समय कि है जब मेरी उमर 20 साल कि थी और मेरी मोम 34 कि थी. मेरी जवानी शुरु हुइ थी. उनकी जवानी के शोले भडकते थे. मेरी मोम बहुत सेक्सी और सुन्दर है. उनके बदन का साइज बडा मस्त 38-32-38 है. उनकी बडी बडी बूब्स और उतने हि बडे चूतड. उनका सुडोल गोर बदन बहुत हसीन था.

मैं मोम को जब भि देखता तो मुझे उनका सेक्सी फ़िगर देखकर मन में गुदगुदी होती थी. मैंने उनको एक दो बार नन्गा नहाते देखा था. मैं बचपन से हि उनके बैडरूम में साथ सोता था, तो मोम-डैड को कयी बार सेक्स करते देखा था वो अन्धेरे में सेक्स करते थे लेकिन उनकी आवाज आती थी क्या मस्ती से दोनो सेक्स करते थे, डैड धक्का मारते तो मोम आवाज निकालती और उछल उछल कर साथ देती थी. मैं रात को सोने का नाटक कर थोडी जल्दी सो जाता, फ़िर दोनो लाइट बन्द कर शुरु हो जाते वो समझते कि मैं सो रहा हूँ, लेकिन मैं सोने का नाटक करता था. मैं उनके सेक्सी खेल देखा करता था, मेरा लण्ड खडा हो जाता था, और बार बार उपर नीचे होता था.

मैं सोचता रहता कि मैं भि कैसे इस खेल का आनन्द लूँ. यह सोच कर कयी बार लण्ड खडा जाता और रात को मेरे रस निकल जाता था. एक दो बार तो जब मोम मेरे बगल में सोयी हुइ थी तो मैं उनसे जान भूज कर चिपक कर सोता, कभी उनकी टान्गो के बीच में अपनी टान्ग डाल देता, तो उनकी नीन्द खुलने पर वो मुझे अपने से अलग कर देती. मैं सोचता रहता कि मेरे साथ क्यो नहीं चिपकती है, मैं कयी बार उनके चूतड पर हाथ फ़ेरता, बूब्स भि दबा देता तो वो हाथ हटा देती थी.

मैं मौके कि तालाश में रहता था कि कब मुझे भी खू्ब मजा मिलेगा. रोज सेक्स देखता था तो मैं भी उत्तेजित हो जाता, एक बार उन्हे पता चल गया कि मैंने उन्हें सेक्स करते देख लिया है. तो तब से वो दूसरे कमरे में जाकर सेक्स करते थे. मोम कि चुचियो को मैं निहारता था. जब भि वो खाना परोसती या झुक कर काम करती तो उनके बूब्स कुच्छ उपर उठ जाते थे, वो चलती तो उनके हिलते चूतडो कि फ़ान्क में फ़ंसी साडी को देखता था, कभी वो मुझे देखती तो अपना पल्लु ठीक करती, साडी ठीक करती.

मैं बचपन से मोम कि जवानी का शबाब और कयी रुप देखते आया हूँ. मैंने एक बार मोम कि अल्मारी में सेक्सी फ़ोटो कि किताब देखी उसमे नन्गी औरत मर्दो कि सेक्स करते हुए तस्वीर थी. उसे देखने में मुझे मजा आता था और देखते देखते लण्ड से रस गिर जाता था. एक बार कि बात है मेरे डैड कोइ बिजनेस टूर पर गये हुए थे, और उस दिन घर पर भि और कोइ नहीं था. रात को डिनर के बाद मैं और मोम TV पर फ़िल्म देख रहे थे, फ़िल्म में भि बहुत से सेक्सी सीन थे जो मुझे उत्तेजित कर रहे थे. फ़िल्म के बाद फ़िर सेक्सी गाने आने लगे इसी बीच मोम उठ कर चली गयी थी.

फ़िर केबल TV पर ब्लू फ़िल्म आने लग गयी मैं तो एकदम हैरान हो गया. मैंने सुना था कि आधी रात में केबल वाले TV पर सेक्सी ब्लू फ़िल्म दिखाते है, कभी मौका नहीं मिला था देखने का. एक दो बार 2-4 मिनट देखी थी. आज अच्छा मौका था सोचा कहीं मोम नहीं आ जाए. मैंने सोचा मोम रूम में सोने चली गयी है. और देखा कोइ नहीं था. मैं चैनेल बदल कर ब्लू फ़िल्म देखने लगा. क्या सेक्सी फ़िल्म थी औरत मर्द को पूरा सेक्स करते हुए दिखाया था. मैंने आवाज बन्द कर दि थी. अचानक मुझे लगा कि मोम पीछे दरवाजे के पास खडी होकर फ़िल्म देख रही हैं, मैंने दबी नजरों से देख लिया, मोम को भि नहीं पता चला कि मैंने देखा है. मैंने सोचा जब मोम ने देख हि लिया है वो भि देख रही है तो चलने दो.

हम दोनो ब्लू फ़िल्म देख रहे थे. मैंने हल्की आवाज भि कर दि. मेरा भि लण्ड टाइट हो गया था, मैं पजामा पहने हुए था, मैं उपर से अपने लण्ड को सहलाता और पकड कर हिला रहा था. अचानक मैं पीछे घुमा और मोम को देखकर बोला, अरे मोम तुम सोयी नहीं, अच्छा तो अब बैठ कर फ़िल्म देख लो, कितनी देर तक खडी रहोगी. वो मेरे पास सोफ़े पर बैठ गयी. फ़िल्म में अब एक सीन में माँ बैटे का सेक्स दिखा रहे थे और दोनो कितने जोर से चूदायी का आनन्द ले रहे थे. उसमे वो औरत उसको बोल बोल कर सेक्स का तरिका बतला कर चुदवा रही थी, मैंने आवाज थोडा बडाया, इसे कम हि रहने दो. मोम ने कहा.

अब मैं मोम कि गोदी में जन्घो पर सिर रख कर लेट गया, और हम फ़िल्म देख रहे थे तरह तरह से चूदायी के तरिके देखकर मेरा लण्ड पजामे में एक दम खडा था और बेताब हो रहा था जिसे मोम देख रही थी, मोम ऐसे कुच्छ झुकी तो उसके बूब्स मेरे मुन्ह पर आये तो मैंने होंठो के बीच उनके बूब्स को दबा लिया, तो वो कुच्छ नहीं बोली, फ़िर मैंने और थोडा उपर होकर बूब्स का निप्पल को दान्तो में दबा दिया, अब तो वो भि फ़िल्म देखते देखते वो आह कर रही थी और कभी अपनी बुर खुजाती, तो कभी बूब्स को मसलती, कभी लिप्स आपस में दबाती, कभी लिप्स दान्त में दबाती, मैं समझ गया कि ये बहुत उत्तेजित हो गयी हैं. अब मुझे उमीद हुयी कि मेरा काम आज बन सकता है. मैंने उनके बूब्स पर धीरे धीरे सहलाना शुरू कर दिया.

मोम अपने ब्लाउज में हाथ डालती एक बार तो साडी पेटीकोट में हाथ डाल कर बुर में भि उन्गली कि, मैंने पूछा क्या हुआ, कहीं दर्द है क्या, वो मुस्कुरा दि. मैं उनकी गोद में लेटे लेटे उनकी कमर में हाथ फ़ेर रहा था, नन्गी कमर थी, पीछे से लो कट ब्लाउज था, मैं सोचने लगा आज अच्छा मौका है, शायद चान्स लग जाए, ट्राई करते है. मैंने हिम्मत करके अपने हाथ से उनका बुर दबा दिया फ़िर साडी के उपर से हि उन्गली से दबाने लगा, उसने सिस्कारी भरी, अब फ़िल्म का पहला पार्ट खत्म होकर दूसरा पार्ट शुरु होने वाला था. मोम बोली काफ़ी देर हो गयी है सो जाओ, बहुत देख लिया अब TV बन्द करो, मैं बोल मोम थोडी देर और. अच्छा लग रहा है, तो वो उठ कर सोने चली गयी. मैं फ़िल्म देखा रहा था.

बडा मजा आ रहा था आज. मैं भि सोचने लगा आज तो फ़िल्म वाले सारे सीन करने हि हैं और चुदायी का मजा लेना है. और फ़िल्म खत्म होने के बाद मैंने TV बन्द किया और मैं भि मोम के बगल में जाकर लेट गया बोला यहीं सो जाता हूँ. मैं मोम के बगल में हि लेट गया. और मैं अपना लण्ड मसल रहा था. मोम ने अपना मुन्ह घुमा लिया. कुच्छ देर के बाद मैंने अपना हाथ मोम के उपर रख दिया. मोम कि कमर पर मैंने अपना हाथ रखा, मोम का मुन्ह दूसरी तरफ था, मैं थोडा आगे गया और माँ कि और उनसे चिपक गया. मेरा लण्ड मोम कि गाण्ड को छूने लगा. धीरे धीरे मैंने अपना हाथ माँ के बूब्स पर रखा और उन्हे सहलाने लगा. मुझे लगा कि माँ शायद सो गई है.. लेकिन वो सोने का नाटक कर रही थी.

मैंने धीरे धीरे अपना हाथ माँ के पेट से घु्मा के माँ के साडी में डाल दिया. तभी, मोम ने मेरा हाथ पकडा.. और कहा..” क्या कर रहा है तू? और वो सिधि हो गई और अपनी साडी ठीक कि. मैं बहुत घबरा गया.. लेकिन माँ ने प्यार से कहा.. क्या बात है, मैं बोला कुच्छ नहीं, तो सो जाओ मैंने कहा आपको फ़िल्म कैसी लगी. वो बोली ये बडो के लिये है, मैंने कहा मजा आ रहा था. और बोला आज मुझसे रहा नहीं जा रहा है और लण्ड मसलने लगा, मैंने फ़िर मोम के उपर अपनी टान्ग रखकर चिपक गया और उनके बूब्स दबाने लगा, उसने अपने ब्लाउज के उपर के बटन खोले हुए थे और सिर्फ़ एक हि बन्द था, मैंने कहा मजा आता है न मोम. मोम भि उत्तेजित हो रही थी. और कसमसा रही थी.

मैंने कहा तुम तो डैड के साथ भि फ़िल्म के सीन कि तरह मस्ती लेती हो, मैंने कयी बार तुमको सेक्स करते देखा है तुम कैसे चुदवाने का मजा लेती हो. और मैंने उनका बूब्स जोर से हाथ से दबा दिया वो बोली ये क्या हो रहा है. तू पागल है, तू मेरा बैटा है, ऐसा नहीं हो सकता बोली तुम्हारे पापा को बोल दुन्गी, मैंने भि कहा मैं बोलून्गा कि अपने मुझे ब्लू फ़िल्म दिखयी थी. और वो मुझसे लिपट गयी, और मेरे कपडे जबर्दस्ती उतार दिये. वो बोली चुप हो जा तू बदमाश हो गया है. मैंने कहा अगर आज आपने सेक्स करने दिया तो मैं किसि से भि नहीं कहुन्गा, डैड से भि नहीं, और दोनो को सेक्स का मजा मिलेगा नहीं तो मैं सबको बोल दून्गा. वो बोली अच्छा चुप हो जा मुझे सोचने दे. फ़िर बोली आज कि बात किसि को नहीं बताना.

मैंने कहा ये तो तेरे मेरे बीच कि बात है. मैंने कहा जल्दी करो फ़िल्म कि तरह करेन्गे. फ़िल्म में जैसे वो औरत और वो लडका कर रहे थे. बस वैसे हि, मैंने मोम के ब्लाउज का हूक खोल दिया क्या सेक्सी काले रन्ग कि ब्रा थी, अब मोम ने अपनी ब्रा खोल दि और उसके बडे बडे बूब्स बाहर आ गये, क्या सुन्दर मोटे मोटे, मेरे तो हाथ में नहीं आ रहे थे, मैंने बूब्स को पकड कर जोर जोर से चूसना शुरु किया और बोला इसे तो मैं बचपन में चूसता था तो तू कुच्छ नहीं बोलती थी, आज नखरे दिखा रही है तेरी चूत से तो मैं पूरा निकला हूँ, अभी तो केवल यह ६ इन्च का अन्दर जाएगा, बहुत नखरा मारती है डैड के साथ तो उछल उछल कर चुदवाती है, तेरी अल्मारी में सेक्सी फ़ोटो और सेक्सी कहानियों कि किताब है जिसमें चूदायी कि कहानी है मैंने सब देखा है, मैं अब खुल गया था.

अब वो भि बोली अच्छा यह बात है तो कस के दबाओ, मैं भि काफ़ी उत्तेजित हो गया और जोश में आकर उनकी रसीली चुन्ची से जम कर खेलने लगा. क्या बडी बडी चुन्चीयां थी और लम्बे लम्बे निप्पल, मैं जोर जोर से दबा कर चूसने लगा उनके पिन्क निप्पलस मोटे और बहुत सोफ़्ट थे. झी्भ निकाल कर गोल-गोल निप्पल पर घु्मा कर चाट कर चूसने लगा. वो आअह्ह्ह्ह्ह्… उह्ह्ह्ह्ह्. इइइइस्स्स्स्स्. मजा आ गया बोली. और पियो ये निप्पलस. मैंने कस कर चुचि दबा दबा कर दोनो निप्पलस पर झीभ से खुब चाटा फ़िर मैंने उनके लिप्स को अपने लिप्स में लेकर खूब जोर जोर से चू्सा उसको मजा आ रहा था, बोली तू तो बडा हि तेज है. और उसने मेरे पजामा का नाडा खोल दिया मैंने पजामा और अन्ड्रवियर दोनो उतार दिये, मैंने भि उनके पेटिकोट का नाडा खिन्च दिया उन्होने पेटिकोट और साडी उतार दी.

और मैं उनकी चूत के दर्शन कर मस्त हो गया पूरा गोरा बदन और उस पर झान्ट उगी हुइ थी. गोरे बदन पर काली झान्ट खिल रही थी. उन्होने अपने पैर एक दूसरे पर चडा लिये थे. जिससे कि नन्गी होने पर भि उनकी चूत चिपक गयी थी. मैंने ताकत के साथ मोम कि चूत पर से उनका पैर हटा दिया. आज मोम के बुर पर बडी- बडी झांटे थी, और झांटो के अन्दर से झान्कता उनका गोरा बुर,… मैं तो बस इस बुर को देख कर बेकरार हो गया. मोम तेरी चूत कि झान्की बहुत सुन्दर है, तू बहुत सेक्सी है रे, और मोम के उपर बैठ गया, वो बोली अरे मेरे बैटा इतनी जल्दी क्या है, ले देख ले जि भर के मेरी चूत को आज इसे मस्त कर देना, और मेरे पूरे बदन में सनसनी होने लगी, और मेरा लण्ड तन कर खडा हो गया. मोम ने तुरन्त हि मेरा लण्ड हाथ में पकडा और सहलाने लगी.

देखते हि-देखते मेरा लण्ड मुसल कि तरह मोटा हो गया. बोली बहुत मोटा है रे तेरा यह लण्ड और उसे बूब्स के साथ मसलने लगी. मैंने लण्ड पकड कर उनके मुन्ह के पास ले गया. मैं बोला चुसो न इसको, उसने किस्स कर छोड दिया, मैंने कहा फ़िल्म कि तरह इसको जोर जोर से चुसो जैसे वो औरत चूस रही थी. वो बोली मैंने कभी नहीं चूसा है, मैंने कहा इसिलिये तो आज ये भि मजा लेना है. उसने कहा अच्छा इसको ठीक से साफ़ कर आओ, मैंने उसको गीले टावल से साफ़ किया और गुलाब जल छिडक दिया, फ़िर मोम को बोला ले अब चूस देर मत कर मैं लण्ड उसके मुन्ह के पास ले गया, उसको गुलाब कि खुशबू आयी, उसने हल्के से मुन्ह में ले लिया,

मैंने कहा अन्दर तक लेकर चूस नखरा मत कर और लण्ड उसके मुन्ह में घुसा दिया और बोला चल चूस् और अब वो चूस्ने लगी…… आअह् ह्ह्ह्….. ओह्ह्ह्ह्ह्ह्……. दोनो के मुन्ह् से तेज सिस्कियां निकलने लगी. मैं मोम से बोला, मुझे बहुत मजा आ रहा है, तुझे भि आ रहा होगा, इसे लोलीपोप कि तरह चूस जोर जोर से. फ़िर उसने लण्ड मुन्ह से निकाल कर हाथ से सहलाने लगी, मैं बोला और कैसे तुम्हे मजा आता है, बोलो तुम्हे ज्यादा पता है. अब मैं मोम के बूब्स दबाने लगा, मोम को भी अच्छा लग रहा था.. उससे आवाजे आ रही जब मैं मोम के बूब्स दबाता था और उसके बुर में उन्गलियां डालता था तब माँ बोलती थी.. “अजिइइइइइ, अब्ब्ब्ब्ब्ब्ब बस भि कर. आप मुझे अयस मत्त् तर्साआआअऊऊओ. अब्ब् दल्ल्ल्ल्ल्ल् भि दो..और्र्र्र्र्र् कित्नाआआअ तरसाओगे. क्याआ बात है मैंने कहा तेरी बुर अभी बैचेन है” ..”

तभी मैंने माँ को.. पूछा. ” मोम, क्या मैं आप को चोद सकता हूँ?’ वो बोली अब पूछता क्या है मुझसे नहीं रहा जा रहा है और मैंने मोम कि टान्ग फ़ैलायी और अपना मुसल सा लण्ड मोम कि हसीन चूत में एक धक्के के साथ घच्ह्ह्ह्….. से घुसा दिया…. उसकी चूत चुदते चुदते फ़ैल गयी थी इस्लिये मुझे कोयी तकलीफ़ नहीं हुइ, पर वो चिल्लयिइ..ऊऔउउउइइइइइ…… रेइ….. मार दिया रे तुने….. मैंने कहा क्या हुआ, बोली कुच्छ नहीं, मजा आ रहा है तू जोर से किये जा. मैं तेजी से अपना लण्ड मोम के भोसडे में अन्दर बाहर करने लगा, मोम नीचे से अपना चूत उछल-उछल कर मेरे लण्ड को अपने चूत में निगल रही थी और पू्रा मजा ले रही थी. मैंने कहा आज फ़िल्म कि तरह तुझे पूरा चोदुन्गा, छोडुन्गा नहीं, और मैं अन्दर तूफ़ान बन गया..

मैं ज़ोरो के झटके दे रहा था और मोम चिल्ला रही थी. ” आआआआआअ उउउउउउउउउउउउउआआआअ. प्ल्’ स्स्स् स्स्स् स्स्स्. धीरे.. मैं मर गई. आआआआआ और धेरीईईईई.. आआआम्म्म्म्म्मिइइइइइइइ .. मज़्ज़ाअ आआअ रहा है. मुझीईईए.. आ ह्ह्ह. मैं गचागच अपने लौडे को पेल रहा था. मैं भि फ़िल्म कि तरह खुल गया था. चुदायी कि रफ़्तार मैंने बडा दि थी. मोम बोली….. ऊऊऊह्ह्ह्ह्……. आआह्ह्ह्ह्ह्……. अब मजा आ रहा है और चोद….. ज़ोर से चोद…… फ़ाड दे इस हसीन चूत को……. अपनी माँ कि मस्त चूत कि कसम तुने मुझे मस्त कर दिया हैइइइ….. क्या मजा आया, आज तक नहीं आया, तू तो अपने बाप का भि बाप निकला.. बडा तेज है रे…….. ऊऊउउउइइइइइइ….. तुमने मुझे जन्नत पहुचा दिया….. मैं झड गयिइइइइ रे……. और मोम मेरे से लिपट कर बैड पर लेट गयी.

मैं थोडी देर बाद बोला मोम फ़िर से लगाउ, अब तेरी गाण्ड में, मैंने अपनी उन्गली घुसेडते हुए कहा, वो बोली अब भि मन नहीं भरा क्या तेरा, मैं बोला आज तो सारी रात हमारी हि है, मोम के पैर उसी तरह फैला कर. मैंने पीछे से मोम को अपनी गोद में बिठा लिया और उनके फैली गाण्ड में अपना मूसल घूसेड दिया, मेरा लण्ड अभी आधा हि घुसा था, कि दूसरी तरफ़ एक पल के लिये तो मोम छटपटा गयी…… ऒऊऊह्ह्ह्ह्ह्……. श्ह्ह्ह्ह्ह्…… बडा दर्द हो रहा है……. बडे बेरहम हो तुम……. आज हि मेरी चूत और गाण्ड दोनो अन्दर से हिला दि है तुने….. और वो थोडा जोर लगते हि गच से मेरा लण्ड उनकी गाण्ड के अन्दर तक चला गया, इस बार मुझे भि कुच्छ तकलीफ़ हुइ, पर मजा आ रहा था. अह्ह्ह्ह्ह्……. मेरी माँ…….मुझे बचा ले. मोम कि आवाज निकली. सिइइइइइइइ. ह अह्ह्ह्…… ऊऊओह्ह्ह्ह्ह्….. मेरी जान निकली जा रही है….. अब और क्या करेगा…

मैंने कहा.. मोम आज मैंने तेरे सुन्दर बदन, सुन्दर बूब्स सुन्दर चूत, क्या गोल गोल चूतड के दर्शन किये तुने क्यो नहीं पहले मुझे दिखाया, आज का मजा बहुत जोरदार था, तू तो सबसे ज्यादा सेक्सी है उस फ़िल्म कि औरत से लडके से भि ज्यादा. और फ़िर कुच्छ देर के धक्को के बाद मैं भि झडने के करीब आ चुका था और मोम भि झडने वाली थी. दोनो एक साथ हि झड गये और मोम और मैं वहीं बैड पर लेट गये, और मोम हाफ़ने लगी आज बहुत दिन बाद एसा मजा आया है बैटा. और हम दोनो आपस में लिपटे रहे लेटे रहे. मैं फ़िर उनके बूब्स सहलाने लगा. अब तो मोम बोली क्या फ़िर से दुध पीने कि इच्छा हो रही है, और उन्होने अपने बूब्स आगे करते हुए कहा “पुछो मत ये दूध और दू्धवाली सब तुम्हारी हि है, जितना दूध पीना है पी लो” और मैं बिना रुके उसके मोटे मोटे सेक्सी बूब्स दबाने लगा. उसे ज़ोरो से चूसने लगा.

वो चिखने लगी, चुसो और ज़ोरो से, पी जाओ सारा, बैटा आआअ आआआ इइइ इइइइइ अदूध्.. ऒऊओ ऊह् ह्ह्ह्हाआऐइइइइइइइइइ.. ऊऊऊऊ ऊऊऊऊऊओ. आआआआआअ. मैंने अपनी चुसायी जारी रखी, और वो मेरे लण्ड से खेले जा रही थी. मैंने उसके बूब्स और निप्पलस चूस चूस के लाल कर दिये, अब मेरा लण्ड फ़िर से खडा हो गया था. मैंने कहा यह फ़िर से तुम्हारी चूत के अन्दर घुमना चाहता है, बोली घुमाओ न किसने मना किया है सारा हि अभी तुझे सौप दिया है. घुमा दे लेले मस्ती. बस फ़िर क्या था मैंने अपने लण्ड को उनकी चूत में जल्दी से घुसा दिया,,, वो भि श्ह्ह्ह्..अह्ह्ह् करने लगी बोली अन्दर तक घुमादे,,

मैं भि जोर से अन्दर बाहर करने लगा बोली मस्ती आ रही है तुझे भि, मजा आ गया आज बहुत दिन बाद जवानी का मजा पाया है कसम् से आज तुने मुझे अपनी जवानी के दिन यादे दिला दिये अय्य्य्य्यिइइइइइइइइ इइइइइइइइइइस्स्स्स्स्स्स्स् मैं भि बहुत जोश के साथ चुदायि कर रहा था मैं बोला आज तेरी चूत कि धज्जियां उडा दून्गा, अब तू डैड से चुदवाना भूल जायेगी हर वक्त मेरा हि लण्ड अपनी चूत में डलवाने को तडपा करेगी मोम – आआआआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आआआयिइइइइइइइइ क्या मजा आ रहा है, अब तू मुझे बुलायेगी क्यो बोल. और उसने मुझे अलग करके अपने उपर लिटाया मुझे किस्स किया मैंने भि फिर से मोम के माथे पर, बूब्स पर, नभि पर किस्स कर बगल में हि लेट गया और सुबह तक एक साथ लिपट कर चिपक कर सोये रहे, सुबह मोम ने उठाया और मुस्करयी, बोली याद रखना इसको राज रखना. मैं भि बोला ऐसे हि मजे कराती रहना.

loading...

Leave a Reply