बड़ी बहन किरण की चुदाई

बड़ी बहन किरण की चुदाई- Badi Bahan Kiran Ki Chudai

मेरा नाम श्याम निषाद है,उमर 20 साल का एक नॉवजवान लड़का हू, मैं गोरखपूरे सिटी मे रहता हू,मैं छोटा सा बिज़्नेस कराता हू, साथ ही साथ पड़ता भी हू, यह मेरी और मेरी बहन किरण की चुदाई की कहानी है. किरण मेरे बड़े पापा की लड़की यानी मेरी सोतेली बहन है,वो मेरी सग़ी बहन नही है, किरण 22 साल की है. उनकी शादी हो गई है एक 2साल की बच्ची भी है. वह बहुत ही सुन्दर है,उसके छ्होटे छ्होटे बूब्स, काले काले बाल , भूरी आखे, बूब्स एक दम उभरे हुए.जैसे की पहाड़ की छोटी है. वह बहुत पहले से मेरे ओर आकर्षित होती थी पर मैं बहन को चोदना नही चाहता था,
बहन की शादी के वो बहुत कम यहा आती है, डटे की बात है वह यहा आई है, ,किरण मेरे कमरे मे आई और बोली श्याम कैसे हो मैने कहा ठीक हू, और मामी पापा से मिलने चली गयी मैने बहन भाई की चुदाई की कहानी बहुत सी पड़ी है मैने सोचा चलो कोई और नही मिल रही है तो बहन को ही चोद देता हू,अगले दिन को पालन फिट था क्या करना है 11आम को किरण मेरे कमरे पास आई आते हुए मैने देख लिया था.

मैने लॅपटॉप मे BF लगा कर देखने लगा वो दरवाजे पे से देखने लगी और कुच्छ बोली नही 10 मिंट बाद मैने बाय्फ्रेंड बंद कर दी और पीछे मुरा तो वह खड़ी थी मैने कहा किरण आप कब आई वो बोली जब तुम ये गंड्ड़ी फिल्म देख रहे थे, मैने कहा कब ुआसने कहा अभी को, मैं उठ कर किरण के पास गया और किरण का हाथ पकड़ कर कमरे मे खिच लिया. कहने लगाकिरण आप किसी को नही कहेगी वो बोली कहून्नगी मैने कहा आप ऐसा नही कर सकती उनोोने कहा क्यो मैने कहा .

अभी बताता हू मैने उनके सीर को पकड़ कर अपने होंठों से उनके होंठों को किस करने लगा वो उूुुुुआअ या क्या कर रहे हो मुझे छ्होरो, मैने नही छ्होरा 7 मिंट तक किस किया और छ्होर दिया वो बोली तुम बहुत बेकार हो अपनी बहहन के शत ऐसा करते हुए सारम नही आ रही है मैं बोला भाई के सामने बाय्फ्रेंड देखते हुए आप को सारम नही आ रही है, मैने दरवाजा को बंद कर लिया वो बोली ये क्या कर रहे हो मिने कहा कुच्छ नही प्यार करने जर रहा हू मैं किरण के पास गया, उनकी शारी को खिच कर नीचे कर दिया वह गुलाबी शारी गुलाबी बेलौग, और वाइट ब्रा पहनी थी जो ब्ल्ौग मे से एक दम साफ दिख रही थी उनःनो शारी उतनी चाही पर मैने उन्हे पकड़ कर उनके ब्ल्ौग के ऊप्पर से बूब्स को दबाने लगाकिरण ने आख बंद कर ली मैने बेलौस के बतन को खहोलना शुरु किय और उसे निकार दिया क्या, शारी को भी खिच कर खहोल दिया अब वह मेरे सामने सिर्फ़ ब्रा और पेटिकोट मे खड़ी थी कारण किरण मुझसे लिपट गई मेरे होंठों को अपने होंठों से चूसने लगी मैं उनकी पीठ और गर को सहला रहा थाकिरण 10 मिंट तक मेरे होंठ को छूसी अब बड़ा मज़ा आ रहा था

वह जोस मे आ रही थी उनहोने अपने ब्रा और पेटिकोट को भी उतार दिया अब वह सिरफ़ पेंटी मे खड़ी हो गयी मैं उनहे देखने लगा पूरा शेरर ढूड़ की तरह सफेद उओपेर ये चुचि जो कह रही थी आओ ंहझहे चूसो गुलाबी होंठ जान मार रहे थे मैं उनहे देख कर पागल हो रहा था, तुरंत ही उनके चुचि को हाथो मे लेकर मसलने लगा और होंठों को चूसने लगा उसके बाद मैं उनके बूब्स को चूसना शुरु किया, उनके बूब्स से दूध किकाल रहेते मैने पूछा किरण आप के चुचि मे से तो दूड निकल रहा है वह कुच्छ नही बोली अपने हाथ को उनके पेंटी के ऊप्पर रख कर चूत को मशालने लगा उन्होने मेरे पेंट मे हाथ डाल कर मेरे लॅंड को शहलाने लगी अब वह और जोश मे आ गई मेने फिर उनकी पेंटी निकल दी वाआहह क्या चूत है बिन एक बाल का गुलाबी मैने और छोटी सी ऐसे लग रहा है अभी यह चूत चुदी भी नही है मैने पूछा किरण जीजा आप को चोदते नही हहाई क्या वह बोली उनका लॅंड एक दम छोटा है चूत मे जाता है पता भी नही चलता और जल्दी ही झार जाते है.

मैने कहा घबराईए मत मैं हू ना अब आप की चूत की प्यास बुझेगी, मैने अपने सारे कपड़े उतार दिए उन्होने मेरे 7 इंच लंबा 3 इंच मोटे लॅंड को देख कर कहने लगी श्याम तेरा लॅंड तो बड़ा मोटा है. मैं बोला किरण आप के भाई का लॅंड है अब आप की प्यास बुझाएगा किरण को को बाद पर बता कर दोनो पैरो को फैला कर गुलाभी चूत को चातने लगा जो गीली थी किरण बोली ये क्या कर रहे हो मैने कहा आप बस चुप रहिए मैं चूत को चातने लगा किरण की आवाज़ भारी हो रही थी और आहह आआअहह आआआआहह आआआअहह उुउऊहह उउउहह उुउऊहह आआआआआआहह श्याम बड़ा मज़ाअ आआराहाआ हैयययययी तेरे जीजा ने कभी भी मेरे चूत को नही चाहता तुम चतो और सारा पानी पे जाऊ,मज़ा आ रहा है किरण गड़ उठा उठा कर मेरे जीभ से पेलवयए जा रही थी,मैं चूत से निकले वाले पानी को पिए जराहा मेरा लॅंड एक दम तन कर खड़ा था किरण की चूत को 15 मिंट तक चाहता अब किरण झरने वाली थी किरण बोली मैं जरने वाली हू, मैं बोला हुुआाअ उन्होने पानी छोड दिया मैने उनका सारा पानी पे गया,

अब दीदी शांत हो गई, बाद पर लेट गई, मैने कह किरण ऐसे कम नही चलेगा, मैं बाद पर चड़ कर उनके ऊप्पर बाद कर लॅंड को मूह पर लगा दिया और बोला किरण मेरे लॅंड को चूसो किरण मना कर रही थी मैने ज़बरजास्ति किरण के मूह मैने लॅंड को डाल दिया अब किरण मेरे लॅंड को चूसने लगी मैं मूह को चूत समझ कर मूह को चोदे जा रहा था किरण फिर से गरम हो रही थी मेरे लॅंड को ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी 10 मिंट के बाद मेरे लॅंड का जवाला मुखी फुट और उनके मूह मे मेरे पानी गर गे वह मेरे लॅंड को मूह मे से निकल कर लॅंड के पानी को थूकने जा रही थी मैने उनके मूह को अपने होंठों से मूंद लिया थूक नही पाई और पानी पे गयी मैं उनके गालबी होंठों को चूस रहा था वह भी,जीभ को किरण के मूह के अंदर डाल कर उनके जीभ को चूस रहा था वो मेरे जीभ को चूस रही थी मैं अपने एक होंठ से उनके चूत को शहलाने लगा अब फिर से वो गरम हो गई मेरा लॅंड भी तब तक खड़ा हो गया मैने किरण से कहा किरण आप पैर फैलाइए किरण ने पैर पायलाया लॅंड को चूत की होल पर रख कर एक धक्का दिया मेरा लॅंड अंदर नही गे फिर से मैने चूत पे लॅंड रख कर ज़ोर का धक्का दिया

अब मेरा 3 इंच लॅंड चूत को चीराता हुआ अंदर गया किरण चिल्ला उठी आआआआआआआहह आआआआअहहााआअ दर्द हो रहा है तुम्हारा लॅंड बहुत मोटा है, धीरे से करो मैं एक हाथ से उनके मूह को मुंडा और लॅंड को एक और ज़ोर का झटका मारा लॅंड पूरा का पूरा अंदर चला गया किरण के आखो से आंशु निकालने लगे मैं रुक गया 5 मिंट के बाद किरण बोली चोद रंडड़ी का भाई अपनी बहन के चूत को रंडड़ी का बना दिया अब चोद मैं लॅंड को अंदर बाहर करने लगा अब किरण को मज़ा आ रही था साथ मे मुझे भी जो पहली बार चूत पाई थी, किरण आआआआआअहह आआहह आआआअहह्ा आआअहह आआआआआआआअहह भाईईईईईईईईईई आौर जूओर सेययययी छोड़ााअ आआआअहह आअहह आआआहह आआहह आआहह मज़ा आराहाआआआअ है ययय्याआआआआआहह गड़ को उठा उठा कर साथ दे रही थी मैं बोला किरण आप

अब कुट्टिया की तरह हो जाइए किरण कुट्तिय की तारह हो गई मैं उनके पीछे चूत को चोद रहा था किरण बोली बही कस्स मैं तेरी बीबी होती मैं बोला किरण आप जब तक यहा है तब तक मुज्ज़े अपना पाती साझिए किरण बिलो डिक है पाती देव आआअहहुहहााअ आआअहह उूुुुुुुुुुुुउऊहह हहााअहह आआआआआआअहह आआआअहह आआआअहहहह आआहह्ा आआहहा मैं झड्ने वाला था मैं उनकी चूत मे झरने वाला था चोदना और तेज कर दिया मेरे से पहले किरण का ही पानी निकल गया मैं भी किरण की चूत मे ही झाड़ गया हम दोनो बाद पर लेट गई किरण बोली इससे पहने कभी इतना मज़ा नही आया भैइतूने मेरी तम्माना पूरी कर दी मैं पुच्छ ओ कैसे वह बोली मैं तुमसे शादी से पहले ही चुदवाना चाहती थी पर तुमने कभी भी मेरे तरफ़ ध्यान नही दिया मैं बोला किरण कभी भी ध्यान भी नही देता मैने भाई बाहान की चुदाई की कहानी पड़ा तभी तो मैने आप को चोदा किरण बोली ऊओह तो तुम जानते थे की मैं दरवाजे पर हू, मीया बोला हां किरण… किरण और मैने उसी दिन रात को 3 बार चूत और लॅंड का मज़ा लिया किरण 5 दिन तक थी हम दोनो ने खूब चुदाई के मज़े कियी.
बड़ी बहन किरण की चुदाई- Badi Bahan Kiran Ki Chudai

loading...

Leave a Reply