शर्म से लाल

मै एक निजी सेल कंपनी मे काम करता हु और शहर मे अकेला रहता हु | मैने एक छोटा सा फ्लैट किराये पर ले रखा है और अकेला ही रहता हु | वेसे तो सब ठीक है लेकिन रातो को बहुत बैचेन होता हु | मेरा लंड सारी-सारी रात कामुक सपनो की वजह से खड़ा रहता है और इसकी एक और वजह है, मेरा ऑफिस, जहाँ मेरे साथ काफी लड्किया काम करती है जो की छोटे और फैशन कपडे पहनती है और बहुत मस्त-मस्त है | जब मै ये बात अपने दोस्तों को बताता हु, तो वो मुझे किसी कॉलगर्ल को बुलाने के लिए बोलते है, लेकिन मेरी हिम्मत नहीं होती |मेरे ऑफिस रेसप्निस्ट है रेणुका | वो बहुत ही सुंदर है और उसका बदन बहुत ही कामुक और गठीला है | वो थोड़ी सी मुझ से उम्र मे बड़ी है लेकिन मुझे वो शुरुवात से ही पसंद थी | मै उससे कोई-न-कोई बहाना बना कर बात करने की कोशिश करता था | शुरू-शुरू मे तो उसने अवोइड किया, लेकिन मेरी कोशिश से वो मुझ से अच्छे से बात करने लगी | एक दिन मैने उसको काफी के लिए पूछा, तो उसने मुझे मना कर दिया और बोला उसके पति को बुरा लगेगा | उस दिन मुझे पता चला कि वो शादीशुदा है और मेरा दिल बुरी तरह से टूट गया | उस रात मे नहीं सोया और बीमार पड़ गया | जब दो दिन बाद ऑफिस गया तो मेरी आखे सूजी हुई थी और मै बीमार लग रहा था | रेणुका, ने मुझे देखते ही पकड़ लिया और पूछा, कि २ दिन कहाँ थे और ये क्या हाल बना रखा है? उस मुझे लगा, कि रेणुका भी मुझे पसंद करती है | उस दिन रेणुका ने मुझे लंच टाइम मे पास वाले चाय की दूकान पर मिलने को कहा |लंचटाइम मे जब हम मिले तो वो बहुत दुखी लग रही थी | उसने बताया, कि ये शादी उसकी मर्ज़ी से नहीं हुई और उसका पति उसको बहुत मरता है | खुद तो कोई काम नहीं करता और मुझ से जॉब करवा के मेरे पैसो से ऐश करता है | फिर उसने अपना थोडा सा कुरता उठाकर मारने के निशान देखाए | पहले तो मुझे रेणुका से प्यार था, लेकिन अब हमदर्दी भी हो गयी | बात करते करते उसकी आखे भर आयी | मैने अपना एक हाथ उसपर रख दिया, तो उसने भी अपना हाथ मेरे हाथ पर रख दिया | मुझे पता चल गया, कि मुझे उसकी ही नहीं, उसको भी मेरी जरूरत है |अब तो हम अक्सर मिलने लगे | रेणुका मार्केटिंग मे MBA थी, सो उसने अपने बॉस को विनती करके अपना ट्रांसफर सेल की ट्रेनिंग टीम मे करवा लिया | अब हम दोनों साथ-साथ काम करते थे और हम काफी टाइम एक साथ बिताते थे | एक दिन रेणुका ने मुझे से पूछा, की मे शादी क्यों नहीं करता हु, तो मैने रेणुका के गाल पे प्यार से चपत मारते हुए कहा, तुम पहले नहीं मिली और अब मिली तो शादीशुदा हो | मेरा नंबर तो कट गया न | रेणुका शर्म से लाल हो गयी | रेणुका ने बोला, आज कोई काम नहीं है, चलो तुम मुझे अपना घर दिखा दो | मैने मना किया, लेकिन उसने जिद की, तो मै रेणुका को लेकर घर आ गया | मै अकेला रहता था तो घर काफी गन्दा था, रेणुका घुसी तो बोली, हे भगवान् ! ये घर है या खाबड़खाना |उसने रसोई साफ़ की और दोनों के लिए चाय बनाई | मै सोफे पर आकर बेठ गया था और रेणुका चाय लेकर मेरे बराबर मे आकर बेठ गयी | और टीवी ओं कर दिया | मुझे याद नहीं रहा, कि मे रात एक पोर्न फिल्म देख रहा था और डिस्क वही लगी थी | मै कुछ करता उससे पहले टीवी ओं हो चुका था और रेणुका मुह खोल कर देख रही थी | फिर थोड़े से बनावती गुस्से से बोली, ओह ! तो ये है तुम्हरी बीवी | मेरी नज़रे नीची थी | उसने बोला, मेरे रहते हुए ये सब | जितने मे मैने अपना सर ऊपर किया, रेणुका अपना कुरता ऊपर कर चुकी थी और ब्रा खोल चुकी थी | उसके गुलाबी निप्पल मेरे सामने थे | मैने भी बिना देर किये हुए , अपने होठ उन निप्पल पर रख दिये और बेरहमी से चूसने लगा | फिर, हम दोनों नंगे हो गये और रेणुका सोफे पर लेट गयी |मै रेणुका के शरीर को बच्चो की तरह चूस रहा है और रेणुका मज़े मे सिसकिया ले रही थी आआ……ऊऊऊ…….म्मम्मम्मम.| फिर, रेणुका ने बोला, जल्दी करो | मुझे चोदो न | फिर, मैने रेणुका की चूत पर लंड रखा और जोर से धक्का मारा | और मेरा लंड चूत को फाड़ कर अंदर घुसता चला गया | रेणुका बोली, तुम्हरा लंड तो बहुत बड़ा है और मोटा है | थोड़ी देर मे हम दोनों ने पानी छोड़ दिया और रेणुका ने मेरा सारा पानी अपनी चूत मे ले लिया |रेणुका ने बाथरूम मे जाकर अपने को साफ़ किया और तैयार हो कर आ गई |दोस्तों, ये तो मेरा पहला चोदना था रेणुका को | उसके बाद तो मै और रेणुका ने बहुत से और चुदाई की | बाकी कहानी बाद मे……

loading...

Leave a Reply